चिकनगुनिया से सहमी दिल्ली, हो चुकी 11 की मौत

0
288

नई दिल्ली।
इस बार डेंगु पर चिकनगुनिया भारी पड़ रहा है। डेंगु से दशहत दिल्लीवासियों को चिकनगुनिया का डर सताने लगा है। ऐसा होना वाजिब भी है। दिल्ली में चिकनगुनिया से अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है। अस्पतालों में चिकनगुनिया के कई मरीज भर्ती हैं।
दिल्ली में चिकुनगुनिया से मरने वालों की संख्या बढ़ रही है। इस मौसम में इस बीमारी के एक हजार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और अस्पताल तथा क्लिनिक रोगियों से भरे पड़े हैं। अस्पताल ने कहा कि उनमें से अधिकतर गुर्दे की गंभीर बीमारी, धमनी संबंधी दिक्कतों जैसी सह-रग्णता स्थितियों तथा जटिलताओं से पीड़ित थे।

एम्स में संदिग्ध चिकुनगुनिया से मौत की भी आज पुष्टि हुई। एम्स के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि मरीज की मौत पिछले सप्ताह हुई। उसकी उम्र 60 वर्ष से अधिक थी और उसके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

शहर में कल तक चिकुनगुनिया से पांच लोगों के मरने की खबर थी । इनमें से चार लोगों की मौत सर गंगाराम अस्पताल में हुई। दिल्ली लगभग 10 साल बाद एक बार फिर इस बीमारी के विषाणु की चपेट में है।

मथुरा निवासी 75 वर्षीय प्रकाश कालरा की कल शाम सर गंगाराम अस्पताल में मौत हो गई थी, जहां सोमवार को भी तीन अन्य बुजुर्गों की मौत हुई थी। हिन्दू राव अस्पताल में चिकुनगुनिया के चलते दिल का दौरा पड़ने से 22 वर्षीय एक लड़की की मौत हो गई थी। कबीर नगर निवासी इशा की मौत एक सितंबर को मौत हुई थी।

रामेंद्र पांडेय (65) की मौत सोमवार को चिकुनगुनिया के चलते सेप्सिस होने से हो गई थी। उसे गाजियाबाद के एक अस्पताल से सर गंगाराम अस्पताल लाया गया था। ग्यारह में से छह लोग उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं जिसमें गाजियाबाद के दो लोग शामिल हैं। चार लोग दिल्ली के ही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here