देश के हर नागरिक का पहचान पत्र सिर्फ आधार कार्ड की ही होगा

0
109

नई दिल्ली,  केंद्र सरकार  एक योजनाओं को आधार कार्ड से जोड़ती जा रही है। ताजा ऐलान ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर किया गया है।

डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम ने सभी मोबाइल कंपनियों को ग्राहकों के मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से जोड़ने को कहा है। टेलीकॉम कंपनियों को यह काम 6 फरवरी 2018 तक पूरा करना है यानी इस दिन तक ग्राहकों के मोबाइल नंबर आधार से नहीं जोड़े जाते हैं तो नंबर बंद भी हो सकता है।सरकार ने आधार कार्ड से सभी प्रीपेड और पोस्टपेड दोनों नंबरों को जोड़ने के लिए निर्देश जारी किए हैं।

आने वाले वक्त में देश के हर नागरिक का पहचान पत्र सिर्फ आधार कार्ड की ही होगा। यह ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर कार्ड, पैन और ऐसे तमाम दस्तावेजों की जगह ले लेगा। आधार कार्ड को हर क्षेत्र से जोड़ने के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। अब सरकार के नए निर्देश के तहत देश के सभी मोबाइल नंबर आधार कार्ड से जोड़े जाएंगे।

गौरतलब है कि ट्रैफिक डिपार्टमेंट के पास ऐसे कई मामले सामने आते रहते हैं कि अगर उन्होंने किसी का ड्राइविंग लाइसेंस रद्द भी कर दिया है तो वो शख्स किसी दूसरे राज्य से उसे बनवा लेता है। इसके लिए लोग फर्जी पहचान पत्र और रिश्वत जैसे तरीकों का भी इस्तेमाल करते हैं। इस भ्रष्टाचार की रोकथाम के लिए जल्द ही ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आधार कार्ड को अनिवार्य कर दिया जाने वाला है। इसके बाद से एक ऐसा चैनल क्रियेट किया जा सकेगा जिससे एक ही शख्स कई लाइसेंस नहीं बनवा सकेगा।आने वाले वक्त में देश के हर नागरिक का पहचान पत्र सिर्फ आधार कार्ड की ही होगा। यह ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर कार्ड, पैन और ऐसे तमाम दस्तावेजों की जगह ले लेगा। आधार कार्ड को हर क्षेत्र से जोड़ने के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। अब सरकार के नए निर्देश के तहत देश के सभी मोबाइल नंबर आधार कार्ड से जोड़े जाएंगे।

 

 

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY