मालेगांव ब्लास्ट : आरोपी कर्नल पुरोहित को सुप्रीम कोर्ट से मिली जमानत

0
79

नई दिल्ली, सुप्रीम कोर्ट ने मालेगांव ब्लास्ट मामले में आरोपी कर्नल श्रीकांत पुरोहित को जमानत दे दी।सुप्रीम कोर्ट ने बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले को पलटते हुए जमानत दी है। दरअसल कर्नल पुरोहित पिछले 9 साल से जेल में है।

जस्टिर आरके अग्रवाल और एएम सापरे की बेंच ने उनकी जमानत याचिका पर फैसला दिया जिसे पिछले हफ्ते कोर्ट ने सुरक्षित रख लिया था। पिछले हफ्ते हुई सुनवाई में उनके वकील वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे ने सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि लेफ्निटें कर्नल पुरोहित पिछले नौ वर्षों से जेल में बंद हैं लेकिन उन पर अभी तक आरोप तय ही नहीं हो पाए हैं।  साल्वे ने यह भी कहा कि लेफ्निेंट कर्नल पुरोहित के खिलाफ मकोका के तहत जो भी आरोप लगे थे उन्हें भी हटा लिया गया और इसलिए ही वह अंतरित जमानत के हकदार बने। मकोका कोर्ट ने कहा था एटीएस ने इस कानून को पुरोहित और 10 लोगों के खिलाफ गलत तरीके से प्रयोग किया था।

पुरोहित ने सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उन्हें राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया गया है। पुरोहित ने एटीएस पर उन्हें फंसाने का आरोप लगाया है। आज की सुनवाई में एनआईए और सरकार के वकीलों ने कहा था कर्नल पुरोहित इस मामले में मुख्य आरोपी है उन्हें जमानत नहीं दी जाए। एनआईए ने जांच प्रभावित होने का दावा किया, लेकिन कोर्ट ने इसे खारिज कर दिया। कोर्ट ने इस बात पर भी गौर किया है कि मामले की जांच के दौरान लंबे समय तक आरोपी को जेल में रखा गया है।

गौरतलब है कि 29 सितंबर 2008 को मालेगांव में एक बाइक में बम लगाकर विस्फोट किया गया था जिसमें आठ लोगों की मौत हुई थी और तकरीबन 80 लोग जख्मी हो गए थे। साध्वी और पुरोहित को 2008 में गिरफ्तार किया गया था और तब से वे जेल में हैं। जांच एजेंसी के मुताबिक, विस्फोट को दक्षिणपंथी संगठन अभिनव भारत ने कथित तौर पर अंजाम दिया था। एनआईए के मुताबिक, पुरोहित ने साजिश रचने वाली बैठकों में सक्रियता से हिस्सा लिया है और वहविस्फोट में इस्तेमाल करने के लिए विस्फोट का इंतजाम करने को भी राजी हो गया था।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY