बम धमाके से दहला काबुल, 95 लोगों की मौत163 घायल

0
119

काबुल, अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में बड़ा बम धमाका हुआ है। इस धमाके में 95 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 163 लोगों के घायल होने की खबर है।

बताया जा रहा है कि विस्फोट की तीव्रता के चलते कम से कम दो किलोमीटर दूर स्थित क्षेत्रों में मौजूद इमारतों की खिड़कियां हिल गईं और घटनास्थल से 100 मीटर के अंदर स्थित इमारतों की खिड़कियां टूट गईं। कुछ कम ऊंची इमारतें गिर भी गईं। गृह मंत्रालय के उप प्रवक्ता नसरत रहीमी ने बताया, ”आत्मघाती हमलावर ने जांच चौकी से गुजरने के लिए एक एंबुलेंस का इस्तेमाल किया। उसने एंबुलेंस में एक मरीज को जमूरियत अस्पताल ले जाने की बात कहकर पहली जांच चौकी पार की और दूसरी जांच चौकी पर उसे पहचान लिया गया और उसने विस्फोटकों से लदी गाड़ी को उड़ा दिया।

तालिबान ने सोशल मीडिया पर हमले की जिम्मेदारी ली है।

इटली के एनजीओ इमरजेंसी ने बताया कि सात मृतकों और 70 घायलों को उसके अस्पताल लाया गया। उसके संयोजक ने देजान पेनिक ने ट्वीट किया कि यह एक ”नरसंहार है। नागरिकों ने जख्मी लोगों को अपनी पीठ पर लादकर मलवे से ढंकी सड़कों से गुजरते हुए उन्हें अस्पताल पहुंचाया और कई अन्य ने जख्मी लोगों को एंबुलेंस में डालने में मदद की।

सोशल मीडिया पर साझा की गई तस्वीरों को कथित तौर पर विस्फोट की तस्वीरें बताया जा रहा है जिसमें आसमान में धुएं का गुबार उठता हुआ दिखाया गया है। यह विस्फोट शहर के व्यस्ततम इलाके में हुआ है जहां उच्च शांति परिषद् का कार्यालय स्थित है। इस परिषद् को तालिबान के साथ बातचीत करने का जिम्मा सौंपा गया है।

परिषद् की एक सदस्य हसीना सफी ने बताया, ”इसने हमारी जांच चौकियों को निशाना बनाया। यह बहुत जबरदस्त विस्फोट था- हमारी सारी खिड़कियां टूट गई हैं। उन्होंने कहा, ”अबतक हमारे पास हमारे किसी भी सदस्य के मारे जाने की कोई खबर नहीं है।

एक अधिकारी ने बताया कि काबुल में यूरोपीय संघ प्रतिनिधि मंडल के सदस्य सुरक्षित कमरे में मौजूद थे और किसी के भी हताहत होने की बात सामने नहीं आई है।धमाका एक एम्बुलेंस में उस वक्त हुआ जब वह पुलिस चेक पोस्ट के पास से गुजर रही थी। इसके अलावा वारदात वाले इलाके में कई सरकारी बिल्डिंग्स और कई देशों के दूतावास भी हैं।सुरक्षा बलों ने एहतियाती कदम के रूप में इलाके को घेर लिया है। किसी भी समूह ने अभी तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।लगभग 50 लाख आबादी वाले इस राजधानी शहर में पिछले कुछ सालों से लगातार आतंकवादी हमले हो रहे हैं।काबुल में स्थित एक आलीशान होटल पर तालिबान द्वारा 20 जनवरी को किए गए हमले में 14 विदेशियों सहित 20 से अधिक लोग मारे गए थे और एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here