क्रिकेट से राजनीति में आए इमरान खान सत्ता के बेहद करीब

0
48

क्रिकेट से राजनीति में आए इमरान खान सत्ता के बेहद करीब पहुंच गए हैं। उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ अभी तक की मतगणना के बाद बहुमत के पास है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ की सरकार बननी तय हो गई है.  अप्रत्याशित बढ़त मिलने के बाद आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा है कि जब तक इस मुल्क का गवर्नेंस ठीक नहीं होता तब तक देश में इन्वेस्टमेंट का आना मुश्किल है, देश की सबसे बड़ी समस्या इकॉनमी है.
हालंकि, विपक्षी दलों ने मतगणना के दौरान भारी धांधली का आरोप लगाया है। वहीं दूसरी ओर इस चुनाव में कई बड़े दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा है। पाकिस्तानी मीडिया की खबरों के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी, उनकी पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ और दक्षिणपंथी संगठन जमात-ए-इस्लामी के प्रमुख सिराजुल हक चुनाव हार गए हैं।

पाकिस्तान में बुधवार को संघ और प्रांतों के लिए हुई वोटिंग की गिनती जारी है. अब तक के रुझानों में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ सरकार बनाती नज़र आ रही है. इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) 113 सीटों पर बढ़त के साथ आगे चल रही है. 64 सीटों पर बढ़त के साथ पीएमलएन दूसरे स्थान पर और 43 सीटों पर बढ़त के साथ भुट्टो-जरदारी की पीपीपी तीसरे स्थान पर है.

इस बीच नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएलएन ने चुनाव नतीजों को मानने से इनकार कर दिया है. शहबाज शरीफ ने देर रात प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस चुनाव को पाकिस्तान के इतिहास का सबसे खराब चुनाव बताया. बिलावल भुट्टो ने भी ट्वीट किया कि उन्हें आधी रात के बाद भी चुनाव के आधिकारिक नतीजे नहीं मिले हैं.

नतीजों में देरी को लेकर कई राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव में धांधली का आरोप लगाया है. हालांकि मुख्य चुनाव आयुक्त सरदार रजा खान ने कहा कि तकनीकी कारणों की वजह से नतीजों में देरी हुई. उन्होंने कहा कि इस बार पहली बार रिजल्ट ट्रांसमिशन सिस्टम (RTS) का इस्तेमाल किया गया था, उसमें तकनीकी खामी और खराब मौसम की वजह से देरी हुई.

पाकिस्तान में सरकार बनाने के लिए 137 सीटों की आवश्यकता है, ऐसे में रुझानों को देखें तो पाकिस्तान में हंग एसेंबली बनने की संभावना बढ़ गई है. अब देखना ये होगा कि कौन सी पार्टी किंगमेकर बनकर उभरती है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here