मिथिला पेंटिंग के साथ बिहार संपर्क क्रांति का सुहाना सफर 

0
84

नई दिल्ली. आखिरकार लम्बे इंतजार के बाद दिल्ली जाने वाली ट्रेन बिहार संपर्क क्रांति नए लुक के साथ आज दरभंगा से प्रस्थान कर गई। ट्रेन की 9 बोगियों को मिथिला पेंटिंग कर खूबसूरत ढंग से सजाया और संवारा गया है।  हालांकि अभी पूरी ट्रेन पर यह पेंटिंग नहीं हुई है, लेकिन धीरे-धीरे ट्रेन की सभी कोचों पर यह पेंटिंग किया जा रहा है। आज हुए इस उद्धघाटन के में न सिर्फ समस्तीपुर के डीआरएम दरभंगा पहुचें, बल्कि खुद ट्रेन में बैठ कर डीआरएम सफर पर भी निकल गए।

View image on TwitterView image on Twitter

Dr. Mahesh Sharma

@dr_maheshsharma

विश्व ख्याति प्राप्त मिथिला पेंटिंग को बढ़ावा देने के लिए रेलवे की एक सुन्दर पहल। बिहार के दरभंगा जिले से नई दिल्ली जाने वाली बिहार संपर्क क्रांति की बोगियों को मिथिला पेंटिंग से सजाया गया है| इससे इस प्राचीन कला का प्रचार प्रसार होगा|

इस ट्रेन की खूबसूरती को लेकर केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि विश्व ख्याति प्राप्त मिथिला पेंटिंग को बढ़ावा देने के लिए रेलवे की एक सुन्दर पहल। बिहार के दरभंगा जिले से नई दिल्ली जाने वाली बिहार संपर्क क्रांति की बोगियों को मिथिला पेंटिंग से सजाया गया है। इससे इस प्राचीन कला का प्रचार प्रसार होगा।

दुनिया भर में मशहूर मिथिला पेंटिंग अपने सुनहरे सफर पर निकल पड़ी है। रेलवे स्टेशन से निकल कर इसका सफर ट्रेन से शुरू हो गया है। संपर्क क्रांति एक्सप्रेस मिथिला पेंटिंग से ऐसी सजी है मानों कोई दुल्हन। मिथिला पेंटिंग madhubani Mithila Painting Train

 मिथिला पेंटिंग madhubani Mithila Painting Train

बिहार के मधुबनी रेलवे स्टेशन को मिथिला पेंटिंग से सजाया गया है। 7005 वर्ग फीट में बनी मधुबनी पेंटिंग ने मधुबनी रेलवे स्टेशन को एक अलग पहचान दी है। मधुबनी के 182 कलाकारों ने इसे बनाया है।से मिथिला चित्रकला (Mithila Painting) का प्रचार-प्रसार होगा।

 मिथिला पेंटिंग madhubani Mithila Painting Train

ऐसा नहीं है कि रेलवे पहली बार मिथिला पेंटिंग के ट्रेनों पर इस्तेमाल से संबंधित प्रयोग कर रहा है। कुछ ही महीने पहले मधुबनी स्टेशन परिसर की दीवारों पर मिथिला पेंटिंग किए जाने की खबरें आई थीं। मिथिला पेंटिंग करने वाले कलाकारों ने मधुबनी स्टेशन पर दिन-रात मेहनत कर महज 10 दिनों में इस स्टेशन को खूबसूरत बना दिया।

गौरतलब यह है कि एक साल पहले मधुबनी स्टेशन को स्वच्छता के पैमानों पर सबसे निचली रैंक मिली थी। यानी इसे देश के सबसे गंदे स्टेशनों में से एक बताया गया था। लेकिन मिथिला चित्रकला के प्रयोग से इस स्टेशन की दीवारें भी अब चमक उठी हैं। वहीं, मधुबनी स्टेशन पर मिथिला चित्रकारी किए जाने के वर्षों पहले बरौनी से नई दिल्ली तक चलने वाली वैशाली एक्सप्रेस की बोगियों में भी रेल मंत्रालय की पहल पर मिथिला पेंटिंग से जुड़ी तस्वीरें लगाई गई थीं। आज भी वैशाली एक्सप्रेस की बोगियों में आपको दुनिया की इस अनोखी चित्रकारी से सजी तस्वीरें दिख सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here