क्या राफेल पर मोदी की ‘गलतियां’ सुधारने फ्रांस जा रहीं रक्षामंत्री- राहुल

0
16

 नई दिल्ली । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील को लेकर फिर सीधे पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। राहुल ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि राफेल पर नए खुलासे से एक बार फिर स्पष्ट हुआ है कि प्रधानमंत्री ने 30,000 करोड़ रुपये अनिल अंबानी की जेब में डाले हैं। राहुल ने डिफेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण के फ्रांस दौरे पर भी सवाल उठाया है। फ्रांस की इन्वेस्टिगेशन वेबसाइट मीडियापार्ट में छपे एक लेख के हवाले से कहा कि अब दसॉ के सीनियर एग्जिक्युटिव ने भी यह कहा है कि पीएम मोदी के कहने पर रिलायंस को राफेल डील में शामिल किया गया था।

राहुल ने कहा कि इससे पहले राफेल पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने भी कहा था कि हिंदुस्तान के पीएम ने उनसे कहा था कि अनिल अंबानी को इसका कॉन्ट्रैक्ट मिलना चाहिए। अब राफेल के सीनियर एग्जिक्युटिव रहे एक शख्स ने कहा है कि हिंदुस्तान के पीएम ने अनिल अंबानी को 30,000 करोड़ रुपये का कॉम्पेंसेशन दिया है। राहुल ने कहा, ‘सुना है कि निर्मला सीतारमन जी फ्रांस गई हैं। आखिर क्या इमर्जेंसी है कि वह फ्रांस गई हैं और उन्हें दसॉ की फैक्ट्री में जाना है।’
राहुल ने पीएम पर डायरेक्ट अटैक करते हुए कहा, ‘अनिल अंबानी पर 45,000 करोड़ रुपये का कर्ज है, इसलिए पीएम ने उनकी जेब में 30,000 करोड़ रुपये डाल दिए। राफेल के दूसरे सबसे बड़े अधिकारी ने यह बात कही है। इससे साफ करप्शन का केस हो ही नहीं सकता है। पूरे हिंदुस्तान को मालूम है कि मोदी जी ने जनता के 30,000 करोड़ रुपये अनिल अंबानी की जेब में डाले हैं।’

गौरतलब है कि फ्रांस की वेबसाइट ने कथित तौर पर दसॉ के आंतरिक दस्तावेजों और एक एग्जिक्युटिव की टिप्पणी के आधार पर यह कहा है कि इस डील के लिए जरूरी था कि दसॉ अनिल अंबानी की कंपनी को पार्टनर बनाए। यह एक तरह से कॉम्पेन्सेशन की तरह था।

फ्रांस क्यों गई हैं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण
राहुल ने कहा, ‘हिंदुस्तान की रक्षा मंत्री फ्रांस जा रही हैं। इससे स्पष्ट संकेत क्या हो सकता है। आखिर फ्रांस ऐसा क्या जरूरी काम आ गया है। वह वहां पर दसॉ क फैक्टरी में भी जाएंगी। दैसॉ को एक बात पता है कि उसे एक बड़ा कॉन्ट्रैक्ट मिला है। इसलिए उसे वही कहना है, जो भारत की सरकार चाहेगी। लेकिन उसके आंतरिक दस्तावेज में यह बात सामने आई है कि पीएम ने अनिल अंबानी को कॉन्ट्रैक्ट दिए जाने की बात कही थी। उन्होंने 30,000 करोड़ रुपये दिलाएं। अभी कई और कॉन्ट्रैक्ट्स पर भी सच सामने आएगा।’

शरद पवार की टिप्पणी पर यह बोले राहुल
शरद पवार की ओर से राफेल डील को लेकर पीएम मोदी का बचाव किए जाने पर राहुल ने कहा, ‘पवार साहब ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि उनके बयान का गलत अर्थ निकाला गया। यहां मुद्दा यह है कि फ्रांस के राष्ट्रपति और दैसॉ के एग्जिक्युटिव ने ही कहा है कि भारत का पीएम करप्ट है। हिंदुस्तान की रक्षा मंत्री फ्रांस जा रही हैं। इससे स्पष्ट संकेत क्या हो सकता है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here