राफेल विवाद: राहुल पर भाजपा का बड़ा हमला

0
106
नई दिल्ली ,फ्रांस के साथ राफेल डील पर सियासी संग्राम चरम पर है। रिलांयस को लेकर फ्रांस की कंपनी दसॉ कंपनी के सीईओ की सफाई के बाद अब भाजपा पलटवार पर उतरी। भाजपा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला करते हुए सीरियल लायर करार दिया।

केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने राहुल के झूठ का पुलिंदा खोला। गोयल ने राफेल मुद्दे पर राहुल द्वारा बोले गए झूठ की सूची गिनाई। गोयल के मुताबिक राहुल ने इस सौदे में किसी प्राइवेट कंपनी को शामिल करने के लिए जिस फ्रेंच मीडिया संगठन की झूठी रिपोर्ट का हवाला दिया राफेल बनाने वाली कंपनी के सीईओ ने उस बात को नकार दिया है। यह उनकी पहली झूठ है। गोयल ने कहा कि राहुल ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का जिक्र किया, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने राफेल की कीमत सार्वजनिक करने से इनकार किया और कहा कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित मामला है। यह कांग्रेस अध्यक्ष की दूसरी झूठ हुई। गोयल ने कहा कि इस मामले में एक अफसर का ट्रांसफर करने और हटाने की बात राहुल द्वारा कहा गया। जबकि उस अफसर को ट्रेनिंग के लिए भेजा गया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि फ्रांस के राष्ट्रपति ही किसी कंपनी को फायदे पहुंचाने के लिए किया गया सदा को गलत ठहरा दिया है। ऐसे में राहुल का यह तर्क भी झूठा साबित होता है। इतना ही नहीं फ्रांसीसी राष्ट्रपति द्वारा राहुल से मुलाकात और राफेल डील के सीक्रेसी संबंधी बात का भी नकारा जाना कांग्रेस अध्यक्ष की झूठ की गवाही देता है। गोयल ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने राफेल की भी कई कीमतें बताईं। वह महज एक एयरक्राफ्ट और एक फुली लोडेड एयरक्राफ्ट की कीमतों की तुलना कर रहे हैं। यह तो आम की गुठली और आम के पूरे बाग की तुलना करने जैसा है। जहां तक कैबिनेट कमिटी आफ सिक्युरिटी का इस डील के बारे में कही गई बातें है तो राहुल गांधी यहां भी गलत हैं। उन्होंने कहा कि सरकारें हमेशा सारी प्रक्रियाओं को ध्यान में रखकर ही कोई डील करती हैं। इतना ही नहीं राहुल ने दो देशों के बीच संबंध खराब करने का भी काम किया। राहुल ने पूर्व फ्रांसीसी राष्ट्रपति पर मोदी के बारे में अनाप-शनाप शब्द कहने का आरोप लगाया, जो गलत साबित हुआ। देश के विपक्षी नेताओं ने अंतरराष्ट्रीय नेता के बहाने से अपनी बात कही। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि खराब करने वाला कदम था। पीयूष गोयल ने कहा कि अब समय है कि कांग्रेस अध्यक्ष झूठ बोलना बंद करें। एक ही झूठ को हजार पर बोलने से वह सच नहीं हो जाता है। सनद रहे कि गुरुवार को ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के फ्रांस दौरे पर सवाल उठाते हुए प्रधानमंत्री को ‘भ्रष्ट व्यक्ति’ करार दिया था जो ‘भ्रष्टाचार से लड़ने के वादे’ पर सत्ता में आए।

ReplyForward

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here