पंचतत्व में विलीन हुईं शीला , सोनिया समेत तमाम नेता पहुंचे

0
174

नई दिल्ली । दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित रविवार को पंचतत्व में विलीन हो गईं। यमुना किनारे स्थित निगम बोध पर राजकीय सम्मान के साथ शीला दीक्षित अंतिम संस्कार किया गया। उनकी अंतिम यात्रा में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रिंयका गांधी भी शामिल थीं। गृह मंत्री अमित शाह भी भारी बारिश के बीच शीला दीक्षित के अंतिम दर्शनों के लिए पहुंचे।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया भी उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए पहुंचे थे। इससे पहले रविवार को कांग्रेस मुख्यालय पर शीला दीक्षित को श्रद्धांजलि देते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि वह मेरे लिए बड़ी बहन सरीखी थीं।

सोनिया ने शीला के साथ राजनीतिक संबंधों से अलग अपने आत्मीय रिश्तों का जिक्र किया। सोनिया ने कहा कि शीला दीक्षित उनके लिए सिर्फ कांग्रेस नेता भर नहीं बल्कि दोस्त और बहन जैसी थीं।

इससे पहले शनिवार को शीला दीक्षित के निधन की खबर के बाद निजामुद्दीन स्थित उनके आवास पर पहुंचकर पीएम नरेंद्र मोदी और सोनिया गांधी समेत तमाम दिग्गज नेताओं ने उनके पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि दी थी।

रविवार सुबह शीला दीक्षित के अंतिम दर्शन करने के लिए उनके आवास पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और सुषमा स्वराज पहुंचे। दोनों ही नेताओं ने फूल चढ़ाकर दिल्ली की पूर्व सीएम को श्रद्धांजलि दी। स्वराज ने शीला को याद करते हुए कहा था कि हम अलग दल में थे, इसके बावजूद शीला जी मेरी अच्छी मित्र थीं।

इस दौरान हरियाणा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर, दिल्ली के पूर्व कांग्रेस पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और सांसद रहे जेपी अग्रवाल, पूर्व मेयर अशोक कुमार जैन ,फरहाद सूरी भी मौजूद थे। इन नेताओं के अलावा शीला के धुर विरोधी रहे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन और पूर्व विधायक भीष्म शर्मा भी निगम बोध घाट पर जाकर शीला दीक्षित को आखिरी विदाई दी।
अंतिम संस्करा के दौरान शमशान घाट पर शीला दीक्षित अमर रहे के नारे लगाए गए। शनिवार दोपहर राजधानी के फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हॉस्पिटल में कॉर्डियक अरेस्ट से दीक्षित का निधन हो गया था। वे 15 साल दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने 10 जनवरी को उन्हें दिल्ली की कमान सौंपी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here